81 हिंदू परिवारों ने पलायन का लिया निर्णय, मुस्लिमों के अत्याचार से हो गए थे परेशान, सिर्फ एक नहीं कई है ऐसे मामले।

0
307

अब अलीगढ के बाद मुरादाबाद में हिंदुओं का पलायन मुरादाबाद में 81 हिंदू परिवारों ने निर्णय लिया है की हम अपना मकान बेच के पलायन कर जायेगे। सब ने अपने घरों के सामने पोस्टर लगा रखे है मकान बिकाऊ है। दरसल मुरादाबाद के शिव बिहार कॉलोनी में रहने वाले 81 हिंदू परिवार मुस्लिम समुदाय के लोगो ने तंग आकर पलायन करने की सोच रहे है, उनका कहना है की मुस्लिमों ने मुख्य गेट पर बने मकानों को 3 गुना अधिक पैसे देकर मकान खरीद लिया है। लगातार हिन्दू परिवारों को मुस्लिम समुदाय के लोगो द्वारा तंग किया जा रहा उनके घरों के सामने मांस के टुकड़े फेके जाते है और गंदगी फैलाई जाती है।
वहां के हिंदू परिवारों का कहना है की सामने के तीन मकानों को मुस्लिमों ने खरीद लिया और लगातार और लोगो भी अपने मकान बेचने के लिए धमकाया जा रहा जिसे दोगुनी कीमत पर खरीदने की बात कर रहे है, वही लोगो का कहना है इस कोरोना के समय हम लोगो के पास पैसे नहीं इन लोगो के पास इतने पैसे aa कहा से रहे लोगो ने प्रशासन से मांग की है की जांच होने चाहिए और रजिस्ट्री कैंसल होनी चाहिए, वरना हम सब सामूहिक पलायन करने पर मजबूर हो जायेगे।

धर्मांतरण करने पर किया जा रहा मजबूर।

कॉलोनी में रहने वाले लोगो का कहना है की हमारे घरों के सामने जानवरो के अवशेष डाले जाते है, इतना ही नहीं उनका ये भी कहना है की या तो धर्मांतरण करो या पलायन करो जबरदस्ती उनसे धर्मांतरण करने के लिए कहा जा रहा। धमकी देने वाले लोगो का कहना है की हम लोगो ने आपस में तय किया है की क्या अपने मकान बेच दे या तो धर्मांतरण करे।

अलीगढ़ पलायन मामला।

अलीगढ़ के नूरपुर गांव में मुस्लिमों के भय से हिंदू दलित परिवार घर तक छोड़ने पर मजबूर तकरीबन 125 गांव वालो ने पलायन की सोच ली है क्योंकि मुस्लिम समुदाय का लगातार हिंदुओं के ऊपर अत्याचार जारी है। ये मामला सामने तब आया जब हिन्दू परिवारों ने अपने घरों के सामने लिख दिया की “मकान बिकाऊ है” और ऐसा सिर्फ एक घरों में नही तमाम घरों में लिखा है। गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है ये सब इस लिए किए एक विशेष समुदाय ने ही हिंदुओं का जीना हराम कर रखा है। इस पूरे मामले पर पुलिस कुछ लोगो को पहले गिरफ्तार कर मुकदमा भी लिखा है, लेकिन उससे कुछ फायदा नही हुआ हिंदू परिवारों का कहना है। इस तरह के आश्वासन पहले भी मिले है लेकिन इससे कुछ नही हुआ वो लोग फिर भी हमारे बारातो पर हमला करते है।

मामला तूल तब पकड़ा जब गांव में 26 मई को अनुसूचित जाति के ओमप्रकाश को बेटी की शादी थी। और बारातियों को गांव में घुसने से रोका और बारात चढ़ाने से मना किया और इसके बाद भी बारातियों से जमकर मार पीट किया गया। मस्जिद में पास बारात पहुंचने पर मुस्लिमों ने घरों से लाठी डंडे और रॉड लेके बाहर आ गए और बारातियों और हिंदुओ पर हमला कर दिया। और हिंदुओं का कहना है ये कोई एक दिन का नही ये रोज का काम है हम लोगो को यहां प्रतिदिन किसी जा किसी वजह से इनकी प्रताड़ना झेलनी पड़ती है। इसी लिए हम सब अपने घर बचने को मजबूर है।

कैराना मामला

कैराना में एक हिंदू महिला ने अपने घर को छोड़ कर पलायन कर गई, उसका भी यही आरोप है की लगातार लोगो के द्वारा डराया और धमकाया जा रहा था उसके बेटे को झूठे केस में फसाने की धमकी दी जा रही थी। जिससे महिला डरी हुई थी। और वह अपने बच्चो के साथ सामान बांध करनाल चली गई।
महिला ने बताया की बात पानी भरने से शुरू हुआ था, गांव में ग्राम पंचायत की तरफ से लगाए गए हैंडपंप से पानी भरने पर गांव के ही कुछ दबंग पड़ोसी गाली – गलौच करते थे और उसके साथ मार पीट भी करते थे, जिसके उपरान्त महिला ने 100 नंबर पर शिकायत भी को थी लेकिन आरोपियों के प्रभाव से पुलिस ने भी मामले को गंभीरता से नहीं लिया। यही नहीं जब दबंगों ने उसके बेटे ने को झूठे केस के फसाने की बात कही तो महिला और भी डर गई। रेखा ने एसपी से बात चीत के दौरान कहा की मैं दर और दवाब में आके पलायन करने की बात कही थी।

मेरठ में मुस्लिमों के खौफ से हिंदुओं ने बेचे मकान।

मेरठ के 4 थाना क्षेत्र के करीब 30 मोहल्लों से मुस्लिमों से डर के हिंदुओं ने अपने मकान बेच दिए। लोगो ने आरोप लगाया है की मुस्लिम समुदाय के लोग लड़कियों के साथ छेड़छाड़ और बाइक पर स्टंट करके मोहल्ले में खौफ का माहौल कर दिया था। हालात इतने खराब थे की लोग मंदिरों में पूजा करने भी नही जा पाते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here