रुपाणी के इस्तीफे के बाद पार्टी के तरफ से रविवार को चुना जाएगा नया नेता, भाजपा ने रविवार को बुलाई है विधायकों की बैठक

0
93

गुजरात के CM विजय रुपाणी ने गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले ही अचानक मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है जिसके बाद अब गुजरात में भाजपा ने नया नेता चुनने के लिए गुजरात के गांधीनगर में रविवार को विधायकों की एक अहम बैठक बुलाई है जिसमे भाजपा के चाणक्य माने जाने वाले अमित शाह भी शामिल होंगे, इस बैठक से पहले अमित शाह अहमदाबाद पहुंचेंगे और उनका आज शाम शनिवार को ही गांधीनगर में पहुंचने का भी कार्यक्रम है, तो वहीँ भारतीय जनता पार्टी ने विधायकों को भी अहमदाबाद पहुंचने के निर्देश दे दिए गए हैं, जिसके बाद माना जा रहा है की भाजपा रविवार को नया नेता चुन लेगी।

जाने गुजरात के नए मुख्यमंत्री बनने की रेस में कौन नजर आ रहा है आगे

विजय रुपाणी के इस्तीफे के बाद अब गुजरात की मुख्यमंत्री सीट के रेस में कई नाम सामने आते दिख रहे हैं जिसमे की “केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया और केंद्रीय मत्स्य एवं पशुपालन मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला, गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल और गुजरात भाजपा के अध्यक्ष सीआर पाटिल के नाम शामिल हैं” बता दें की इस रेस में इनमें से सबसे आगे मनसुख मांडविया माने जा रहे हैं तो इसी सब के बीच आज शनिवार दोपहर में मनसुख मांडविया और नितिन पटेल गांधीनगर में BJP कार्यालय भी पहुंचे।

मैंने पूरी की है अपनी जिम्मेदारी- विजय रुपाणी

विजय रुपाणी ने इस्तीफे के बाद इस विषय पर मीडिया से बातचीत में यह कहा कि “पार्टी में समय के साथ दायित्व बदलते रहते हैं, भाजपा में यह स्वाभाविक प्रक्रिया है, मुझे 5 साल के लिए मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी मिली, जो मैंने पूरी की है, अब नई लीडरशिप में गुजरात का विकास जारी रहना चाहिए”, इसी के साथ ही विजय रुपाणी ने ये भी कहा की “जेपी नड्‌डा जी का भी मार्गदर्शन मेरे लिए अभूतपूर्व रहा है और अब मुझे जो भी जिम्मेदारी मिलेगी मैं उसका निर्वहन करूंगा, पार्टी में हम पद नहीं जिम्मेदारी कहते हैं और मुझे जो जिम्मेदारी मिली थी वह मैंने पूरी की है, और हम प्रदेश के चुनाव नरेंद्र मोदी जी की अगुआई में लड़ते हैं और 2022 का चुनाव भी उन्हीं की अगुआई में लड़ा जाएगा”

क्या इस बदलाव के पीछे की वजह अगले साल होने वाले विधानसभा के चुनाव है?

अचानक विजय रुपाणी का मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देने पर माना यह जा रहा है कि कहीं न कहीं अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव इसके पीछे की एक बड़ी वजह है, जनता की जो भी नाराजगी है उसे मुख्यमंत्री बदलने से कम किया जा सकता है और इसके वजह से कहीं न कही जनता का नाराजगी काम होगा जिससे की आने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी को मदद मिल सकेगा। आपको बता दें की “विजय रुपाणी ने 26 दिसंबर 2017 को दूसरी बार गुजरात के CM पद की शपथ ली थी, गुजरात में 2017 के चुनाव में भाजपा ने 182 सीटों में से 99 सीटें जीतकर बहुमत हासिल किया था”

पिछले 3 महीने में भाजपा शासित राज्यों में बदले 4 मुख्यमंत्री

बता दें की भाजपा शाषित राज्यों में 4 मुख्यमंत्री तीन महीनो में बदले गए हैं, पहले यह संख्या 3 थी लेकिन विजय रुपाणी के इस्तीफे ने इस संख्या में बढ़ोत्तरी कर दी है, भाजपा शासित राज्यों में इस्तीफा देने वाले 3 महीने में विजय रुपाणी चौथे मुख्यमंत्री बन गए है, जुलाई में कर्नाटक के CM बी एस येदियुरप्पा को बदला गया था उसके बाद जुलाई में ही उत्तराखंड में दो बार मुख्यमंत्री बदले गए हैं तो वहीँ अब गुजरात में भी मुख्यमंत्री बदला जा रहा है।

इस्तीफे के करीब 3 घंटे पहले रुपाणी हुए थे मोदी के कार्यक्रम में शामिल

आज शनिवार को सुबह 11 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अहमदाबाद में सरदारधाम भवन का उद्घाटन किया था जो की करीब 1 घंटे तक चला था , विजय रुपाणी भी एक घंटे चले इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे, लेकिन अचानक ही विजय रुपाणी ने दोपहर के करीब 3 बजे इस्तीफे का ऐलान कर के सबको लगभग चौंका दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here