Ayodhya Deepotsav 2021: योगी सरकार इस बार 7.5 लाख दीप प्रज्जवलित करके, तोड़ेगी अपना ही रिकॉर्ड

0
283

उत्तर प्रदेश ने बीते वर्षों में कई वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज किया है। योगी सरकार में उत्तर प्रदेश ने देश में कई मामलो में सुधार के साथ साथ पूरे देश में टॉप पर भी दिख रही है। न सिर्फ देश में बल्कि उत्तर प्रदेश आज पूरे विश्व में अपना नाम दर्ज करा रही है। आयोध्या नगर निगम के महापौर “ऋषिकेश उपाध्याय” ने कहा की “पिछली बार जब देश की स्थिती नाजुक थी, कोरोना महामारी के बीच भी 551000 दीपक जलाकर लोगों ने विश्व रिकॉर्ड स्थापित किया था। इस वर्ष और भव्यता से दीपोत्सव मनाने का प्रयास है।”

फिर से जगमगाने जा रही है अयोध्या नगरी

भगवान राम की नगरी अयोध्या में एक बार फिर से भव्य दीपोत्सव मनाए जाने की तैयारियां जोरों शोरो से चल रही हैं, अंदाजा यह लगाया जा रहा है की इस बार दीपोत्सव में लगभग 7 लाख 50 हजार दीपक प्रज्वलित होंगे। एक बार फिर से अवध विश्वविद्यालय के 7500 वालंटियर मिलकर अपनी श्रद्धा से साढ़े सात लाख दीपक जलाकर अपना ही कीर्तिमान को दोबारा से तोड़ने का प्रयास करेंगे। इस आयोजन में अयोध्या के जितने भी ऐतिहासिक कुंड और पौराणिक बिल्डिंग हैं, उन पर भी दीपक प्रज्वलित किये जाएंगे। अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने यह जानकारी दिया।

योगी सरकार खुद तोड़ने जा रही है अपना रिकॉर्ड

योगी सरकार इस साल अपने ही बनाए गए रिकॉर्ड को तोड़ने जा रही है। यूपी सरकार अपना ही पुराना रिकॉर्ड तोड़ने की प्लानिंग कर रही है, और इसके लिए उनका प्रयास पूरे जोरों शोरों पर दिख रहा है , इस साल दीपोत्सव में लगभग 7.50 लाख दीये जलाए जाएंगे। पर्यटन विभाग द्वारा इसकी तैयारियों को अभी से शुरू कर दिया गया है। दीपोत्सव के लिए एजेंसियों से प्रस्ताव भी मांग गए हैं, प्लानिंग की जिम्मेदारी इस साल बाहरी एजेंसी को सौंपी गई है और इसके लिए एजेंसी कार्यक्रम के लिए तीन दिन का ट्रायल भी करेगी जिससे इस महोत्सव को भव्य बनाया जा सके।
खबर के मुताबिक इस बार के दीपोत्सव कार्यक्रम के लिए लगभग 7 हजार से ज्यादा वॉलिंटियर्स को लगाया जाएगा , योगी सरकार ने पिछली साल 5.50 लाख दीये जलाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में उत्तर प्रदेश का नाम पूरे विश्व में रोशन किया था ,तो इस बार भी योगी सरकार अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ते हुए इस साल की दीपोत्सव में 7.50 लाख दीये जलाने की प्लानिंग कर रही है, बता दें पिछले साल दीपोत्सव में लगभग 29 हजार लीटर तेल का इस्तेमाल दीये जलाने के लिए किया गया था, तो इस वर्ष दीपोत्सव में योगी सरकार अपना ही पुराना रिकॉर्ड तोड़ने के लिए उत्तर प्रदेश के पर्यटन विभाग ने एजेंसियों से प्रस्ताव मांगे हैं।

7.50 लाख दीयों से जगमगा जाएगा फिर से सरयू घाट

पिछले साल दीपोत्सव में जहाँ पांच लाख 51 हजार दीप प्रज्जवलित किए गए थे जिसके कारण पूरा सरयू घाट रोशनी से जगमगा उठा था और सभी लोग दीपावली के पावन अवसर पर उत्सव मना रहे थे और पुष्पक विमान से अवधपुरी आते सिया, राम और लक्ष्मण,आतुर नयनों से अपने आराध्य की प्रतीक्षा करते हजारों, लाखों श्रद्धालु, वातावरण में वैसी ही मंगल ध्वनियां, वैसा ही उमंग और उत्साह से भरा मन। भगवान राम की धर्मनगरी अयोध्या में त्रेतायुग का यह नजारा एक बार फिर जीवंत हो उठा था, दिव्य दीपोत्सव’ में ‘राम-राम जय राजा राम’ की गगनभेदी जयघोष ने माहौल को राममय कर दिया था ठीक इसी प्रकार से इस साल भी कुछ ऐसा ही नजारा अयोध्या दीपोत्सव में देखने को मिलेगा। और इस बार उत्तर प्रदेश अपने पिछले वर्ल्ड रिकॉर्ड को खुद से तोड़ता हुआ पूरे विश्व में भगवान् श्री राम के नगरी आयोध्या का वो भव्य नज़ारा लोगों को दिलों में बसाने का काम करेगा। अयोध्या के महापौर का यह दावा है कि इस वर्ष का दीपोत्सव बहुत ही भव्य और दिव्य तरीके से मनाया जाएगा और एक बार फिर से नया कीर्तिमान स्थापित करने का प्रयास किया जाएगा, उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण शुरू होने के बाद यह दूसरा दीपोत्सव है। ऐसे में पूरे अयोध्या नगरी को जगमग दुल्हन के तरह से सजाया जाएगा। गजेटियर में दर्ज सभी ऐतिहासिक और सभी पौराणिक कुंड तथा अयोध्या की सभी प्राचीन मंदिरों पर दीपक जलाए जाएंगे। आपको बता दें की इस बार अयोध्या में योगी सरकार पांचवी बार दीपोत्सव मनाने जा रही है और भगवान राम के मंदिर का निर्माण शुरु होने के बाद यह दूसरा दीप महोत्सव है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here