महबूबा मुफ्ती के कड़वे बोल, तालिबान के बहाने साधा केंद्र पर निशाना, कहा- मत लो हमारे सब्र का इम्तेहान

0
135

शनिवार को जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीडीपी सुप्रीमो ‘महबूबा मुफ्ती’ ने तालिबान के बहाने केंद्र पर निशाना साधते हुए, केंद्र सरकार से कहा कि जम्मू कश्मीर के लोगों से बातचीत शुरू कर दो और जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा दोबारा दिया जाए साथ ही मुफ्ती ने कहा, तालिबान ने अमेरिका को भागने पर मजबूर किया है, हमारे सब्र का इम्तेहान मत लो। बीतें दिनों कई नेताओं को तालिबान का सपोर्ट करता देखा गया है और उत्तर प्रदेश में तो कुछ नेताओं पर ऐसे बेतुके बयानबाज़ी के लिए देशद्रोह तक का मुकदमा दायर कर दिया गया है, ऐसे समय में महबूबा मुफ्ती के ऐसे बोल ये साफ़ जाहिर करते हैं की वह बस मौके के तलाश में थी की कब ऐसा समय आए जब मौके पे चौका मारा जा सके। तालिबान के अफगानिस्तान कब्जाने के बाद ही, शायद महबूबा मुफ़्ती को जिस मौके की तलाश थी वो मिल गई है और तालिबान के बहाने ही उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए विवादित बयानबाज़ी का शिलशिला शुरू कर दिया है।

महबूबा मुफ़्ती ने दिए विवादित बयान

पीडीपी सुप्रीमो और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को तालिबान के बहाने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है । मुफ्ती ने कहा की तालिबान ने अमेरिका को भागने पर मजबूर किया है और अब आप लोग हमारे सब्र का इम्तेहान मत लो। मुफ्ती ने शनिवार को एक कार्यक्रम में तालिबान की तुलना कश्मीरियों से करते हुए कहा, ‘जिस वक्त यह बर्दाश्त का बांध टूट जाएगा, तब आप नहीं रहोगे, मिट जाओगे। पड़ोस (अफगानिस्तान) में देखो क्या हो रहा है। उनको(अमेरिका) भी वहाँ से बोरिया-बिस्तर लेकर वापस जाना पड़ा। आप के लिए मौका है अभी भी, जिस तरह बाजपेयी जी ने कश्मीर में बातचीत शुरू की थी, बाहर भी (यानी की पाकिस्तान के साथ) और यहाँ पर भी (यानी भारत में ) , उसी तरह आप भी बातचीत का सिलसिला शुरू करो।’

‘अगर बीजेपी 1947 में सत्ता में होती, तो कश्मीर आज भारत में नहीं होता’

अपने विवादित बयानों में रहने वाली पीडीपी सुप्रीमो और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा की , 1947 में तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने जिस तरह से जम्मू कश्मीर के नेतृत्व से यह वादा किया था कि लोगों की पहचान की हर तरीके से रक्षा की जाएगी और जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाएगा। उन्होंने भाजपा पर वार करते हुए कहा की , अगर आजादी के वक्त भाजपा सत्ता में होती, तो जम्मू कश्मीर आज भारत का हिस्सा नहीं होता।

‘धार्मिक और सांप्रदायिक आधार पर टुकड़ों में बंटने के लिए तैयार है भारत’ – महबूबा के कड़वे बोल

महबूबा मुफ़्ती ने फिर से बेतुकी और देशविरोधी बात करते हुए केंद्र को यह चेतावनी दी कि अगर भाजपा ने बेहतर समझ नहीं दिखाई तो भारत धार्मिक और सांप्रदायिक आधार पर टुकड़ों में बंटने के लिए तैयार है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि बीजेपी अपनी एजेंसियों का दुरुपयोग कश्मीर में उठने वाली आवाज को दबाने के लिए कर रही है। ऐसे बेतुकी और देश की अखंडता को तोड़ने वाली बयानबाज़ी आज कोई नई बात नहीं है, कश्मीर के कई नेता ऐसे देशविरोधी बयानबाज़ी करते आए है और तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद महबूबा के भी बोल बदल गए है। मानो उन्हें इसी पल का इंतजार था।

आर्टिकल 370 के बाद का जम्मू-कश्मीर

जम्मू और कश्मीर में आर्टिकल 370 हटने के बाद जितनी शान्ति और ख़ुशी है उतनी शायद ही आजादी के बाद जम्मू और कश्मीर में देखने को मिली हो, आर्टिकल 370 को हटाने के बाद सरकार जम्मू कश्मीर में भी सभी राज्यों की तरह मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर और इंटरनेट जो की लगभग हमेसा से जम्मू कश्मीर में बंद ही रहता था वही अब यहाँ पर 4g नेटवर्क जैसी सेवाए भी मौजूद हो गई है, लाल चौक पर भारतीय तिरंगा शान से लहराता दिखता है, और जम्मू कश्मीर के लोग भी काफी खुश हैं लेकिन शायद यह ख़ुशी कुछ नेताओ को पसंद नहीं आती है वो शायद जम्मू कश्मीर के लोगो को खुश देखना और शान्ति से रहता देखना पसंद ही नहीं करते, कई अलगावादी नेता बढकाऊ बयान देते आए है। आर्टिकल 370 हटने के बाद से ही कई नेताओं को इस बात से ऐतराज रहा था कि आखिर कैसे कश्मीर से 370 को हटा दिया गया अब उनके नफ़रत की दुकानें और उनके प्रोपेगंडा कैसे चल पाएंगे और वो बस मौके के तलाश में रहते आए हैं की कैसे भी करके बस जम्मू कश्मीर में अशांति बनी रहे।

जम्मू कश्मीर हमेशा से है भारत का हिस्सा- निर्मला सीतारमण

महबूबा मुफ्ती के इस बेतुके बयान पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री को इस समय इस तरह के बयान देने से बचना चाहिए, जम्मू कश्मीर हमेशा से भारत का हिस्सा रहा है।

भाजपा ने भी साधा महबूबा पर निशाना कहा- महबूबा तो देशद्रोही हैं

इस बयान को लेकर भाजपा ने भी महबूबा मुफ़्ती को खरीखोटी सुनाई है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना ने पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती के इस बयान को लेकर निशाना साधते हुए कहा की , “भारत मजबूत राष्ट्र है, हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, ना कि जो बाइडेन, हम सभी आतंकवादियों को खत्म कर देंगे और महबूबा मुफ्ती देशद्रोही हैं, वे देशद्रोह में लिप्त हैं, उन्होंने जम्मू कश्मीर के देशभक्त लोगों का अपमान किया है, महबूबा मुफ्ती कश्मीर में तालिबान राज चाहती हैं, लेकिन हमारी सरकार सभी आतंकियों का सफाया कर देगी”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here