योगी को हराने यूपी का रुख कर रहे ओवैसी, 7 से अयोध्या से करेगे रैली, लोगो ने लिखा ये फैजाबाद नही राम की नगरी अयोध्या है।

0
120

उत्तर प्रदेश में 2022 विधानसभा चुनाव होने है और ऐसे में तमाम राजनैतिक दल जोरो से अपने दाव पेच अपना रहे है। हर कोई उत्तर प्रदेश की जनता को अपनी तरफ करना चाहता है। ऐसे में एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी भी 7 तारीख से उत्तर प्रदेश में रैली करने जा रहे है। अपने रैली की शुरुवात राम जन्म भूमि अयोध्या से करने जा रहे। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘मैं 7 सितंबर को फैजाबाद और 8 सितंबर को सुल्तानपुर और 9 सितंबर को बाराबंकी का दौरा करूंगा। आने वाले दिनों में हम योगी सरकार को हराने के लिए आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के और क्षेत्रों का दौरा करेंगे। हैदराबाद के सांसद ने पहले घोषणा की थी कि एआईएमआईएम अगले साल की शुरुआत में होने वाले उत्तर प्रदेश में 100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। वर्तमान में, 110 विधानसभा क्षेत्र हैं जहां मुस्लिम मतदाता लगभग 30-39 प्रतिशत हैं। 44 सीटों पर, यह प्रतिशत बढ़कर 40-49 प्रतिशत हो गया, जबकि 11 सीटों पर मुस्लिम मतदाता लगभग 50-65 प्रतिशत हैं।

कई राजनैतिक दलों के संपर्क में है ओवैसी।

ओवैसी ने पहले लखनऊ का दौरा किया था और छोटे राजनीतिक संगठनों के साथ बातचीत कर रहे हैं। वह ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ का भी हिस्सा हैं। वह ओम प्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी), शिवपाल सिंह यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (पीएसपी), केशव देव मौर्य की महान दल और कृष्णा पटेल की अपना दल के संपर्क में हैं।

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर रावण से की मुलाकात।

हाल में ही एआईएमआईएम के नेता ओवैसी ने रावण से मुलाकात की थी जिसमे सुहेलदेव समाज पार्टी से ओम प्रकाश राजभर और एसबीएसपी से शिवपाल सिंह यादव शामिल थे। जिसको लेके चर्चा है कि विधानसभा चुनाव में ये पार्टियां ओवैसी के साथ गठबंधन कर सकते है। जिसमे लगभग ये तय माना जा रहा है की चंद्रशेखर रावण की आजाद समाज पार्टी ओवैसी के पार्टी के साथ गठबंधन करने को तैयार है। क्योंकि अगर देखा जाए तो ये पार्टियां उत्तर प्रदेश बिना गठबंधन के बीजेपी को टक्कर नही दे सकती और ऐसे में चंद्रशेखर के आजाद समाज पार्टी को यूपी में किसी का साथ चाहिए ही चाहिए लेकिन वही बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा रावण को नजरंदाज कर दिया गया है, और वही अखिलेश ने भी कोई दिलचस्पी दिखाई, और ऐसे में रावण को किसी का साथ चाहिए और उसी साथ के चक्कर में रावण ओवैसी के करीब होते नजर आ रहे है।

ओवैसी अपनी रैलियों में कोविड प्रोटोकॉल की जमकर उड़ा रहे धज्जियां।

(AIMIM) के 300 पार्टी कार्यकर्ताओं के खिलाफ कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के आरोप में मामला दर्ज किया। पार्टी नेता असदुद्दीन ओवैसी की बेलगावी यात्रा के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का कथित रूप से उल्लंघन करने का आरोप है। एआईएमआईएम नेता आगामी निगम चुनावों से पहले अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के लिए एक प्रचार रैली के लिए बेलागवी आए थे। ओवैसी के समर्थकों के खिलाफ कर्नाटक महामारी रोग अधिनियम और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने कहा कि एआईएमआईएम पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को बेलगावी शहर में चुनाव प्रचार के दौरान कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया। बेलगावी में 58 वार्डों के लिए नगर निगम के चुनाव 3 सितंबर को होने हैं। वोटों की गिनती 6 सितंबर को होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here