केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को मिली बेल, बेटे ने कहां आसमान में थूकने वालो को शायद ये नही पता की, पलट के थूक उन्ही के चेहरे पर गिरेगा।

0
107

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर दिए विवादित बयान पर महाराष्ट्र पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इस बयान के बाद महाराष्ट्र के राजनीति में भूचाल सा आ गया है। दरअसल नारायण राणे महाराष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों में जन आशीर्वाद यात्रा निकाल रहे हैं। पिछले दिनों उनकी यात्रा रायगढ़ के महाड पहुंची थी। यहां पत्रकारों को संबोधित करते हुए नारायण राणे पर उद्धव ठाकरे को लेकर कहा था, ‘यह कैसा मुख्यमंत्री है जिसको अपने देश का स्वतंत्रता दिवस पता नहीं। मैं वहां होता तो कान के नीचे थप्पड़ लगा देता। बाद में इस बयान को लेकर केंद्रीय मंत्री राणे के खिलाफ चार अलग अलग थाने में एफआईआर दर्ज कराई है।

राणे को मंत्रीपद से हटाने की मांग।

मंत्री के इस बयान के बाद शिवसेना और आक्रामक हो गई। शिवसेना के लोकसभा सांसद विनायक रावत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खत लिखकर राणे को तत्काल रूप से केंद्रीय पद से हटाने की मांग है। राउत ने अपने पत्र में लिखा कि राणे ने पत्रकार परिषद में राज्य के सीएम के लिए जिस भाषा का इस्तेमाल किया वह बेहद निदंनीय है। नारायण राणे जैसा अपनी मर्यादा भूलने वाला केंद्रीय मंत्री ऐसी भाषा का उपयोग करता है तो मुझे लगता है कि उन्हें अपने पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। इसके बाद मंगलवार सुबह से ही नारायण राणे के खिलाफ शिवसेना के कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन लगातार चलता रहा। वही नासिक में भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर पर पत्थरबाजी की गई। सिर्फ नासिक नही बल्कि मुंबई , रत्नागिरी समेत कई शहरों में विरोध प्रदर्शन हुआ।

8 घंटे हिरासत के बाद मिली जमानत।

केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री राणे की टिप्पणी को लेकर महाराष्ट्र में उनके खिलाफ चार प्राथमिकी दर्ज की गई हैं। उन्हें रत्नागिरि पुलिस ने मंगलवार को दोपहर बाद गिरफ्तार किया था और फिर उन्हें महाड ले जाया गया। महाड में उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 189 (लोकसेवक को नुकसान पहुंचाने की धमकी देने) और धारा 504 (शांति भंग करने के लिए जानबूझकर अपमान करना) तथा धारा 505 (सार्वजनिक तौर पर शरारत से संबंधित बयान) के तहत मामला दर्ज किया गया। लेकिन उसके बाद केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को मंगलवार रात रायगढ़ जिले में महाड की एक अदालत ने जमानत दे दी। इससे पहले भाजपा नेता राणे के वकील अनिकेत निकम ने आरोप लगाया कि पुलिस राणे को गिरफ्तार करने से पहले कानून की उचित प्रक्रिया का पालन करने में विफल रही और वह उनकी गिरफ्तारी का विरोध करेंगे।

राणे ने किया बयान का बचाव।

इससे पहले, राणे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के खिलाफ दिए गए अपने कथित बयान का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने ऐसी टिप्पणी कर कोई अपराध नहीं किया है। गिरफ्तारी से पहले- मामले में उनकी गिरफ्तारी की खबरों पर राणे ने कहा कि वह कोई ‘‘आम’’ आदमी नहीं हैं और इस तरह की खबरों के खिलाफ उन्होंने मीडिया को आगाह किया। राणे ने कहा, ‘‘मैंने कोई अपराध नहीं किया है। आप खबरों का सत्यापन कर उन्हें टीवी पर दिखाएं नहीं तो मैं आपके (मीडिया के) खिलाफ मामला दर्ज कराऊंगा। कोई अपराध ना करने के बावजूद मीडिया में मेरी ‘‘आसन्न’’ गिरफ्तारी की अटकलें लगाई जा रही हैं। आपको क्या लगता है कि मैं कोई आम आदमी हूं?’’

नारायण मंत्री राणे के बेटे ने किया ट्वीट।

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को कोर्ट ने भले ही जमानत मिल गई हो लेकिन उस पर राजनीति तेज हो गई है। नारायण राणे के बेटे नितेश राणे ने ट्वीटर पर मंगलवार रात को 12 बजकर 47 मिनट पर फिल्म का सीन ट्वीट किया है। राजनीति फिल्म के सीन में एक्टर मनोज बाजपेई कह रहे है, “मगर आसमान में थूकने वाले को शायद ये नही पता है कि पलट के थूक उन्ही के चेहरों पर गिरेगा…करारा जवाब मिलेगा…करारा जवाब मिलेगा।

बीजेपी के बड़े नेताओं ने जताया विरोध।

धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट किया है नारायण राणे की गिरफ्तारी, महाराष्ट्र में बीजेपी के जन आशीर्वाद यात्रा की आपार सफलता और पूरी तरह विफल हो चुकी एमवीए की सरकार की सच्चाई व अहंकार को जाहिर कर रही है। अपनी विफलताओं की कुंठा असंवाधिनिक तरीके से निकालना अनुचित है।

वही डॉक्टर भारती प्रवीण पवार कहते है महाराष्ट्र सरकार द्वारा केंद्रीय मंत्री जी की गिरफ्तारी सवैधानिक मूल्यों का हनन है इस तरह के कार्यवाही से ना तो हम डरेंगे, ना दबेगे। बीजेपी को जन आशीर्वाद यात्रा से मिल रहे अपार समर्थन से ये लोग परेशान हो रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here