अलीगढ़ में मोदी जी ने अपने संबोधन में कहां, 20वीं सदी के गलतियों को सुधार रहा 21वीं सदी का भारत, राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के बारे में कहीं कई बाते।

0
93

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ पहुंचे, पीएम मोदी दो बड़े योजनाओं के शिलान्यास करने के लिए अलीगढ़ पहुंचे। राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय और डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का उद्घाटन किया। इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा व प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह आदि प्रदेश के बड़े नेता मौजूद रहे। इस दौरान प्रधानमंत्री जी ने कई बड़ी बातो का चर्चा किया। मोदी जी ने कहा आज उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के लिए बहुत ही गौरव का दिन है, राधा अष्टमी की बधाई देते हुएं कहा की आज राधा अष्टमी के दिन ब्रज के भूमि में कड़-कड़ में और रज-रज में राधा ही राधा है। मोदी जी ने कहा हमारे संस्कार है जब कोई शुभ काम होता है, तो हमें अपने बड़े याद आते है मैं आज इस धरती के महान सपूत स्वर्गीय कल्याण सिंह जी की अनुपस्थिति बहुत ज्यादा महसूस कर रहा हूं , अगर आज कल्याण सिंह जी हमारे साथ होते तो राजा महेन्द्र प्रताप सिंह वीवी और डिफेंस कॉरिडोर को देख कर बहुत खुश हुए होते और उनकी आत्मा जहा भी होगी हमे आशीर्वाद देती होगी। उन्होंने कहा भारत के हजारों वर्ष का इतिहास ऐसे राष्ट्र भक्तों से भरा है, जिन्होंने समय समय पर अपने तप और त्याग से दिशा दी है। हमारे आजादी के लिए न जाने किए महापुरुष अपना सब कुछ खपा दिया लेकिन ये हमारा दुर्भाग्य रहा की आजादी के बाद ऐसे राष्ट्र नायक और राष्ट्र नायिका इस तपस्या को देश की अगली पीढ़ी को परिचित ही नही कराया गया। देश की कई पीढ़ियां इससे वंचित रह गई। देश की उन गलतियों को आज 21 सदी का भारत उन गलतियों को सुधार रहा है।

महाराजा सुहेलदेव और चौधरी छोटू राम जी को किया याद।

मोदी जी ने कहां राजा महेन्द्र प्रताप सिंह, महाराजा सुहेलदेव, या चौधरी छोटू राम जी आज ऐसे महापुरुषों को हमारे नई पीढ़ी को देश के लिए इनके द्वारा दिए गए योगदान को परिचित कराना होगा। आज जब देश अपने आजादी के 75 वर्ष का पर्व मना रहा तो इन कोशिशों को और गति दी गई है। भारत के आजादी में राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी के योगदान को नमन करने का ये प्रयास ऐसा ही एक पवन अवसर है।

राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के बारे में युवाओं को जरूर पढ़ना चाहिए।

प्रधानमंत्री मोदी जी के कहा की देश के हर उस युवा को जो बड़े सपने देख रहा है उन सभी युवाओं को राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के बारे में जरूर पढ़ना चाहिए और उनके व्यक्तित्व से परिचित होना चाहिए। उनके जीवन से हमे अदम्य इच्छा शक्ति अपने सपने को पूरा करने के लिए कुछ भी कर गुजरने वाली क्षमता हमे मिलती है। वो भारत को आजादी चाहते थे और अपने जीवन का एक एक पल इसी के लिए समर्पित कर दिया। उन्होंने सिर्फ भारत में रह कर नही बल्कि देश और दुनिया के कोने कोने में भारत के आजादी के लिए गए। अफगानिस्तान, पोलैंड, दक्षिण अफ्रीका, जापान, वो अपने जीवन पर हर खतरा उठाते हुए भारत माता को हर बेड़ियों से आजाद करने के लिए जुटे रहे और जी जान से जुटे रहे और जी जान से काम करते रहे। मैं आज अपने देश के युवाओं को कहूंगा की जब भी उन्हें कोई लक्ष्य कठिन लगे तो वो जरूर एक बार राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी की जीवन को करीब से पढ़े उन्हे जरूर कुछ भी कर गुजरने का साहस मिलेगा।

उत्तर प्रदेश हर छोटे-बड़े निवेशक के लिए बहुत आकर्षक स्थान।

पीएम मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश आज देश और दुनिया के हर छोटे-बड़े निवेशक के लिए बहुत आकर्षक स्थान बनता जा रहा है। यह तब होता है, जब निवेश के लिए जरूरी माहौल बनता है और जरूरी सुविधाएं मिलती हैं। आज उत्तर प्रदेश डबल इंजन सरकार के डबल लाभ का एक बहुत बड़ा उदाहरण बन रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने ओडीओपी के तहत तालों व हार्डवेयर को नई पहचान दिलाने का काम किया है। इससे उद्योगों व एसएमएसई को विशेष लाभ होगा, अगले कुछ सालों में 900 करोड़ रुपया निवेश होगा। यूपी डिफेंस कारिडोर बड़े निवेश व रोजगार के बड़े अवसर लेकर आ रहा है यह तब होता है, जब निवेश के लिए जरूरी माहौल बनता है।

दो वर्षो में होगा विश्वविद्यालय का निर्माण।

अलीगढ़ के राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय के भवन की नई डिजाइन तैयार हो गई है। इसे अब सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी देखकर संतुष्टि जताई। पूर्व में तैयार की गई डिजाइन उन्हेंं ठीक नहीं लगी थी। उन्होंने महल की तरह बनाने के निर्देश दिए थे। नई डिजाइन लोक निर्माण विभाग ने नोएडा की एक एजेंसी से बनवाई है। इसे उच्च शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव मोनिका एस गर्ग सहित अन्य अधिकारियों ने सीएम को दिखाया। विश्वविद्यालय का मुख्य द्वार विशाल होगा। अंदर जाने वाला रास्ते के दोनों ओर हरियाली होगी। मुख्य द्वार पर नक्काशी रहेगी। इस विश्वविद्यालय की घोषणा 2017 में इगलास विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने की थी। देश की आजादी के लिए अपना जीवन कुर्बान करने वाले राजा महेन्द्रप्रताप के नाम कोई इमारत व स्मारक न होने के चलते उनके नाम से विश्वविद्यालय का नाम रखा गया।

राज्य विश्वविद्यालय और कॉरिडोर पर एक नजर।

*प्रदेश सरकार ने 101 करोड़ का बजट जारी किया है।

  • लोधा ब्लॉक के गांव मूसेपुर पर 94 एकड़ जमीन पर होगा निर्माण।
  • 2023 तक पूरा होगा निर्माण।
  • 400 विद्यालय इस विश्वविद्यालय से संबद्ध होंगे।

*1000 एकड़ में खैर रोड पर अंडला में विकसित होगा कारिडोर।
*चार साल पहले केन्द्र सरकार ने अलीगढ़ समेत सूबे के छह शहरों में कारिडोर विकसित करने की घोषणा की थी।
*100 हेक्टेअर जमीन का अब तक हो चुका है अधिग्रहण, यूपीडा को इसे विकसित करने की जिम्मेदारी मिली है।
*छह हजार करोड़ का यहां पर निवेश होने की संभावना है। इसमें रक्षा हथियारों से जुड़े कलपुर्जे तैयार किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here