आखिर क्यों उद्धव ठाकरे ने कही थी योगी को चप्पल से मारने की बात, संजय राउत ने दिए जवाब

0
122

भाजपा भी अब महाराष्ट्र सरकार को घेरने के लिए उद्धव ठाकरे के पुराने बयान का हवाला देती नजर आ रही है, जिसमें उद्धव ठाकरे ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिया था। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का यह पुराना बयान अब विवादों में है, और अब इस मामले पर संजय राउत ने अपना जवाब दिया है।

जिस तरह शतरंज में हर चाल को एकदम सोच समझ कर चला जाता है, ठीक उसी प्रकार से भारतीय राजनीती में भी कोई भी कदम सोच समझ कर न चलने पर उसका खामियाजा पार्टी को भुगतना पड़ सकता है, ऐसा ही इस समय महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में देखने को मिल रहा कब किस बयान को और कहाँ पर किस प्रकार से उपयोग में लाना है वो बड़ा ही सोच समझ कर किया जाता आ रहा है, दरअसल योगी आदित्यनाथ को लेकर, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का एक पुराना बयान विवादों में आ गया है। दरअसल केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने आरोप लगाया था कि, उद्धव ठाकरे ने पहले योगी आदित्यनाथ को चप्पल से पिटने की बात कही थी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर टिप्पणी को लेकर ‘केंद्रीय मंत्री नारायण राणे’ की गिरफ्तारी के बाद से ही महाराष्ट्र में सियासी घमासान लगातार बढ़ता नजर आ रहा है । भाजपा और शिवसेना अब इस पूरे मामले को लेकर एक दूसरे के आमने-सामने आ गई है। साथ ही अब महाराष्ट्र सरकार को घेरने के लिए बीजेपी भी अब उद्धव ठाकरे के एक पुराने बयान का हवाला दे रही है जिसमें महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कुछ आपत्तिजनक बयान दिया था। इस पूरे मामले को लेकर अब मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की भी केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की तरह गिरफ्तारी की मांग की जा रही है। दरअसल उद्धव ठाकरे ने बयान देते हुए कहा था कि “एक योगी कैसे मुख्यमंत्री बन सकता है? उसे एक गुफा में जाकर बैठना चाहिए। उसे उसकी चप्पल से मारना चाहिए। योगी ने शिवाजी महाराज का अपमान किया है। योगी की शिवाजी के पास जाने की हैसियत नहीं थी। योगी जब महाराष्ट्र आएं तो उन्हें उनके चप्पल से पीटना चाहिए।” इस मामले को लेकर सियासी घमासान तेज़ हो गया है।

इस पूरे मामले को लेकर संजय राउत ने दी है सफाई

संजय राउत ने इस पूरे मामले पर सफाई देते हुए बताया कि “आखिर उद्धव ठाकरे ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चप्पल से मारने की बात क्यों कही थी। उन्होंने कहा कि यह बयान छत्रपति शिवाजी के अपमान किए जाने पर दिया गया था। कोई भी शिवाजी महाराज को महाराष्ट्र में माल्यार्पण करते समय चप्पल नहीं पहनता है। यह हमारी संस्कृति और परंपरा रही है। यह शिवाजी महाराज के प्रति हमारा सम्मान है।” राज्यसभा सांसद और शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने गुरुवार को इस मामले में दावा किया कि उद्धव ठाकरे ने यह बयान इसलिए दिया था क्योंकि योगी आदित्यनाथ ने छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा पर चप्पल पहनकर फूलमाला चढ़ाई थीं, जो की छत्रपति शिवाजी का अपमान है।

कहाँ से शुरू हुई इस मामले की शुरुआत ?

आपको बता दें कि इस पूरे मामले की शुरुआत तब हुई जब, केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को उद्धव ठाकरे पर की गई विवादास्पद टिप्पणी के चलते मंगलवार को हिरासत में लिया गया था, बाद में उन्हें जमानत पर रिहा भी कर दिया गया था, रिहा होने के बाद ही नारायण राणे ने आरोप लगाया था कि, उद्धव ने भी पहले अपने बयान में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चप्पल से पीटने की बात कही थी।

कैबिनेट का एक मंत्री सरकार नहीं होता- संजय राउत

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के इस बयान “हम महाराष्ट्र को पश्चिम बंगाल नहीं बनने देंगे” पर शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि “कोई क्या बयान देता है उस पर हम टिप्पणी करें यह ठीक नहीं है। कैबिनेट का एक मंत्री सरकार नहीं होता। कोई भी सरकार के बारे में बात करता है वह ठीक नहीं है और हम उस पर ध्यान भी नहीं देते।” बता दें कि केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने कोर्ट का फैसला आने के बाद ही मीडिया को संबोधित किया था, और अपने सम्बोधन में उन्होंने यह भी कहा था कि “वह किसी से डरते नहीं है और महाराष्ट्र को बंगाल नहीं बनने दिया जाएगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here