उत्तर प्रदेश में बदमाशों और अपराधियों के हौसले पर भारी पड़े योगी सरकार के बेमिसाल 4 साल

0
209

उत्तर प्रदेश अपराधियों का गढ़ और दबंगो का प्रदेश हुआ करता था ,देश में उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था और घटनाओ पर आए दिन सवाल उठते थे और अपराध तो मानो उत्तर प्रदेश में अक्सर रोजाना होने वाली वारदात होती थी। दबंगो और कई बड़े अपराधियों का बोलबाला चलता रहता था इन बदमाशों ,माफियाओ के डर से उत्तर प्रदेश के प्रशासन पर भी आए दिन सवाल उठते रहते थे ,बड़े माफिया और दबंगो को तो जैसे कानून का कोई डर रह ही नहीं गया था ये कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश की हालात थी।

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार आने के बाद लोगो को उनसे कई उम्मीदे थी क्राइम को कम करने की और अपराध को रोकने की महिला सुरक्षा को लेकर ऐसे तमाम मुद्दों को लेकर उत्तर प्रदेश की जनता योगी आदित्यनाथ सरकार से इस सभी विषयो पर तेज़ी से कार्य कर उत्तर प्रदेश को अपराध मुक्त बनाने की मांग कर रही थी ,वही योगी आदित्यनाथ भी अपने तीखे भाषण, स्पष्ट जवाब ,अपराध का विरोध और माफिया और गुंडागर्दी के सख्त खिलाफ मुख्यमंत्री बनने से पहले भी जाने जाते थे ।

उत्तर प्रदेश की सत्ता हासिल करने के तुरंत बाद ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था की अपराधी या तो अपराध छोड़ देगा या वो यूपी छोड़ेगा अपराधियों का उत्तर प्रदेश में कोई जगह नहीं। अपराधी जिस भाषा में समझेगा उसको उसी भाषा में समझाया जाएगा। इसका नतीजा प्रदेश में ताबड़तोड़ एनकाउंटर होने लगे जिससे की बदमाशों और अपराधियों में खलबली मच गई।
योगी सरकार के चार साल के कार्यकाल में यूपी पुलिस ने 7500 से ज्यादा एनकाउंटर किए है जिसमें 132 अपराधी मारे गए। हालांकि कुछ मुठभेड़ को लेकर यूपी पुलिस पर आरोप भी लगे।

सीएम योगी की ओर से प्रदेश को पूरी तरह से अपराध मुक्त बनाने के लिए चलाए गए विशेष ‘ऑपरेशन क्लीन’ के तहत सरकारी सूची से चिन्हित किए गए कुछ जाने माने नाम मुख्तार अंसारी, अतीक एहमद समेत 25 नामी माफियाओं पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए 11.28 अरब की संपत्ति जब्त की गई। योगी सरकार में 5558 मामले दर्ज कर 22,259 अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। आइये जानते है कुछ बड़े गैंगस्टर माफिया और अपराधियों के नाम जिनका दबदबा योगी सरकार के आने के बाद ख़त्म हो गया।

कुख्यात अपराधी योगेश भदौड़ा पर पुलिस पर शिकंजा, पुलिस ने जब्त की करोडो की अवैध संपत्ति

पश्चिम उप्र के कुख्यात अपराधी योगेश भदौड़ा की अवैध संपतिपर उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा कब्जाई गई करोडों की अवैध संपति एसएसपी अजय साहनी ने निर्देश पर चलाए अभियान के तहत एएसपी कृष्ण कुमार विश्नोई के नेतृत्व में पुलिस व राजस्व विभाग की संयुक्त टीम ने ग्राम भदौड़ा में माफिया योगेश भदौड़ा द्वारा एक बडे तालाब पर किये गये अवैध कब्जे को हटवाया। योगी सरकार की दमदार एक्शन में अपराधियों की पसीने छूट रहे है ,जिससे वो या तो उत्तर प्रदेश को दे या अपराध छोड़ दे ऐसी नौबत योगी सरकार ने उन अपराधियों पर ला दिया है जो की एक समय पे दबंग हुआ करते थे।

मुकीम काला गैंग का कुख्यात अपराधियों का एनकाउंटर

मुकीम काला का गिरोह इतना खतरनाक था कि पुलिस के सामने आते ही गोलियां चलाना सुरु कर देता था। सहारनपुर जिले में ही इस गिरोह ने दो पुलिसकर्मियों की जान ली तो शामली में एक सिपाही की हत्या कर दी थी। इस सभी अपराधियों को योगी सरकार में ख़त्म किआ गया साथ ही साथ कई पर गैंगस्टर एक्ट की तहत मुक़दमे दर्ज हुए तो कई एनकाउंटर में मारे गए।

मुख्तार अंसारी गैंग के करीब 244 सदस्यों की जब्त हुई 1.94 अरब की संपत्ति तो वही 110 पर हुई गैंगस्टर की कार्रवाई

ऑपरेशन क्लीन के तहत राज्य में योगी सरकार की ओर से बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी को और उसकी पूरी गैंग पर मई 2021 तक सबसे बड़ी कार्रवाई की गई। राज्य सरकार की ओर से जारी ब्योरे के अनुसार मशहूर माफिया मुख़्तार अंसारी गैंग के 244 सदस्यों पर आजमगढ़, मऊ, वाराणसी में की गई ढेरो कार्रवाई में 1 अरब 94 करोड़ 82 लाख 67 हजार 859रु. की संपत्ति जब्त की गई। इतना ही नहीं, इस कार्रवाई के बीच 158 अपराधियों को गिरफ्तार भी किआ गया , 122 असलहों के लाइसेंस को निरस्त किआ गया । 110 अपराधियों के खिलाफ गैंगस्टर और 30 के खिलाफ गुंडा एक्ट व 6 पर NSA की कार्रवाई की गई।

अतीक अहमद के लगभग 90 गुर्गो की 3.25 अरब की संपत्ति की गई जब्त

मुख्तार अंसारी के साथ साथ साबरमती जेल में बंद दबंग माफिया अतीक अहमद और सोनभद्र जेल में कैद माफिया सुंदर भाटी के खिलाफ भी योगी सरकार की ओर से मई 2021 तक सबसे बड़ी कार्रवाई की गई थी । अतीक अहमद की ऊपर व् उनके लगभग 90 गुर्गों पर प्रयागराज क्षेत्र में की गई कार्रवाई में अबतक करीब 3 अरब,25 करोड़ 87 लाख की सम्पत्ति ध्वस्त/जब्त की गई। इनमें से 60 सदस्यों के असलहे भी निरस्त किए गए। सारे गैंग के खिलाफ 21 मुकदमे दर्ज कर 9 को जेल भी भेजा गया और 11 के खिलाफ गुंडा एक्ट की तहत व 1 के खिलाफ गैंगस्टर की तहत कार्रवाई की गई। सुंदर भाटी गैंग के 9 सदस्यों पर भी की गई कार्रवाई में 63 करोड़ 24 लाख 53 हजार की संपत्ति ध्वस्त/जब्त की गई थी । इनमें से 4 केअसलहे की लाइसेंस को निरस्त कर 3 को जेल भेजा गया व 2 के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here