योगी सरकार ने फिर लिया एक्शन, लखनऊ स्थित मुख्तार अंसारी की पत्नी का 1 करोड़ का घर सीज।

0
234

गैंगस्टर मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशा अंसारी का लखनऊ स्थित एक फ्लैट सीज कर दिया गया। गाजीपुर के CO ओजस्वी चावला के नेतृत्व में हुआ गाजीपुर से लखनऊ एक टीम पहुंची और जिस सोसाइटी में मुख्तार अंसारी के पत्नी का फ्लैट था। पहले वहा ढोल बजा कर मुनादी की गई, उसके बाद टीम अंदर जाके करवाई शुरू की और सारे सामान का लेखा जोखा रिकॉर्ड किया गया। ये पूरी करवाई गाजीपुर के जिलाधिकारी के निर्देश और लखनऊ जिलाधकारी के सहयोग से किया गया। वही CO ने बताया की इस पूरी करवाई के दौरान घर का कोई भी सदस्य मौजूद नहीं था। लेकिन वही मुख्तार के तरफ से वकील मौजूद थे जिन्होंने फ्लैट की चाभी दी। इस पूरी करवाई पर मुख्तार अंसारी के ससुर जमशेद रजा का कहना है की ये करवाई पूरी तरफ से गैरकानूनी थी जिसका पहले से हमे कोई नोटिस नही दी गई थी।

मुख्तार अंसारी के ऊपर कुल 52 अपराधिक मामले दर्ज है जिनमे से सबसे बड़ा मामला बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या का है,बताया जाता है कि मुख्तार ने तब तक विश्वास नही किया था कि कृष्णानंद राय को उसके आदमियों ने गोलियों से छलनी कर दिया है जब तक कृष्णानंद राय की शिखा उसके कदमो में न रखा गया। ऐसा आतंक था मुख्तार अंसारी का जो मऊ दंगे में अपने जिप्सी के ऊपर बंदूख लहराते हुवे अपने आप को डॉन बताता था,लेकिन योगी सरकार ने उसकी वो हालत कर दी है कि अब उसे अपनी जान की भीख मांगनी पड़ी रही है।

सूबे के मुख्यमंत्री ने अभी कुछ दिन पहले ही ट्वीट कर के ये बता दिया था कि उतर प्रदेश में जितने भी गुंडे है उनपे कारवाई में तेजी लाया जाय और उसी का नतीजा रहा कि बुधवार को बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी और साले सरजील रजा की लगभग 2 करोड़ 18 लाख की संपत्ति कुर्क कर दी गई। ये आदेश गाजीपुर जिलाधिकारी ने दिये थे। उत्तर प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ चल रहे अभियान के तहत जिलाधिकारी एमपी सिंह ने पुलिस की आख्या पर दो अगस्त को गैंगस्टर एक्ट की धारा लगा कर मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी और साले सरजील रजा की कुल दो करोड़ 18 लाख की संपत्ति को कुर्क करने का आदेश जारी किया था। जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहा वैसे वैसे योगी का बुलडोजर तेज रफ्तार में चलना शुरू हो गया है।

साथ ही साथ मुख्तार के तीन गुर्गे की गिरफ्तारी भी हुई है। बाराबंकी पुलिस ने मुख्तार अंसारी के तीन इनामी गुर्गों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों के नाम अफरोज, फिरोज और सुरेंद्र शर्मा थे। बता दे कि इन पर 25-25 हजार रु का इनाम भी था।

आपको बता दे कि मुख्तार अंसारी अभी बांदा जेल में है। इसी साल मुख्तार अंसारी को पंजाब जेल से बांदा जेल में शिफ्ट किया गया था इसको लेकर भी योगी सरकार को काफी परिश्रम करनी पड़ी थी क्योंकि पंजाब सरकार मुख्तार को कोई न कोई बहाना से रोक ले रही थी।मुख्तार की डिप्टी जेलर पर हमला और जेल में बलवा कराने के मामले में 11 अगस्त को पेशी होनी है। लेकिन बाहर अंसारी के किलो में सरकार सेंध लगाने में कही से भी नही चूक रही है।

दो चर्चित हत्या ने मुख्तार अंसारी को पहुचाया जेल

कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय के भाई को उन्ही के सामने गोलियों से भूना:

अवधेश राय हत्या कांड जो कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय के बड़े भाई थे उनमें भी मुख्तार अंसारी का हाथ था। अजय राय ने अपने बयान में कहा था कि “3 अगस्त 1991 को मेरे बड़े भाई अवधेश राय की हत्या में मुख्तार अंसारी सीधे रूप से शामिल हैं और यह मेरे घर के पास की घटना है और मैं भी वहीं था। पूरी वारदात का मैं चश्मदीद भी हूं और मैं वादी मुकदमा भी हूं। मैंने ही ने उस पर एफआईआर कराई है। हम लोग कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं और इंसाफ की मांग कर रहे हैं।” अजय राय आगे बताते है कि 3 अगस्त 1991 में हल्की बारिश हो रही थी और मैं अपने बड़े भाई के साथ कार के पास खड़ा हुआ था,कुछ लोग फटाफट कार और वैन में आते है और मेरे बड़े भाई को मार कर चले जाते हैं। मैंने अपनी आंखों से देखा था कि उस कार में खुद मुख्तार अंसारी भी मौजूद था। हमलोग जितने भी लोग थे कुछ दूर तक पीछा भी किये वहां मदद की गुहार भी लगाई लेकिन कोई भी सामने नही आया। हम सभी वापस उस जगह पर गए जहा हमारे बड़े भाई को गोली मारी गई थी,हम सभी लोग उनको कबीरचौरा अस्पताल लेकर गए जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। इतना लंबा वक्त होने के बाद भी कोई कुछ नही कर पाया है,हमे अभी तक इंसाफ नही मिल पाया और आज भी हम इंसाफ के इन्तेजार में हैं।

कृष्णानंद राय सहित 7 लोगो को मारी गोली:

दूसरी घटना कृष्णानंद राय की है जो 29 नवंबर 2005 में अंजाम दी गई। कृष्णानंद के साथ जो और 7 लोग मौजूद थे उनको भी गोलियों से छलनी कर दी गई थी।बताया जाता है कि उस समय कृष्णानंद राय अपने लोगो के साथ क्रिकेट मैच के उदघाटन समारोह में जा रहे थे। घात लगाए बैठे मुख्तार के आदमियों ने अचानक गोलियों से हमला कर दिया।अब आप खुद ही अंदाजा लगा सकते हैं कि कितना बड़ा कुख्यात अपराधी है मुख्तार अंसारी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here