झारखंड के दुमका मे रहने वाली अंकिता सिंह को उसी का पड़ोसी शाहरुख हुसैन ने जिंदा जलाकर मार डाला। घटना 23 अगस्त सुबह 5:00 बजे की है । 17 साल की नाबालिक अंकिता के घर में घुसकर शाहरुख ने उसके घर के खिड़की में आग लगा दी गई । आग से अंकिता बुरी तरह झुलस चुकी थी । बाद में रिम्स अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई ।

शाहरुख अंकिता को पिछले 2 वर्षों से परेशान करता था । अंकिता पढ़ने लिखने में होनहार लड़की थी वह कक्षा 12 वीं की छात्रा थी । शाहरुख उससे एक तरफा प्यार करता था अंकिता ने शाहरुख को स्पष्ट कर दिया था कि उसे इन सब लफड़े में वों नहीं पड़ना चाहती थी । इसके बावजूद शाहरुख आए दिन कोचिंग जाते समय या कोचिंग से घर आते समय उसे परेशान करता था ।

अंकिता ने इसपर एतराज जताया तो 22 अगस्त को शाहरुख ने अंकिता को धमकी कि वह उसे और उसके परिवार को जान से मार देगा इस बात से अंकिता बुरी तरह से हम से गई थी । वह यह बात अपने पिता जी से भी बताई थी । जब तक नाबालिक अंकिता के पिता कुछ कर पाते उससे पहले ही शाहरुख ने इस घटना को अंजाम दे दिया ।

अंकिता ने बताई अपनी आपबीती

यह पूरा मामला बीते 23 अगस्त का है, जब इकतरफा प्यार में पागल शाहरुख ने अंकिता पर पेट्रोल छिड़क कर आग के हवाले कर दिया, जिसकी 28 अगस्त को इलाज के दौरान रांची रिम्स में मौत हो गई । अंकिता की मौत को लेकर झारखंड में भारी बवाल हो रहा । अंकिता के गुनहगार को फांसी पर लटकाए जाने की मांग हो रही ।  रिम्स में इलाज के दौरान अंकिता ने दर्द से कराहते हुए कहा कि ” जिस तरह से मैं मर रही हूं शाहरुख को भी वैसी ही मौत मिले । ”

मौत से कुछ घंटे पहले अंकिता ने शाहरुख और इस घटना के बारे में बात की थी अंकिता ने बताया था, ” 23 अगस्त की सुबह मैं अपने कमरे में सो रही थी । भोर में करीब 5 बजे खिड़की से शाहरुख ने पेट्रोल उड़ेला और माचिस की तीली जलाकर मुझे आग के हवाले कर दिया । आग की लपटों से झुलसते हुए मैं चीख रही थी और शाहरुख खिड़की से खड़ा होकर मुझे देख रहा था । मैं इसी हालत में घर की तरफ भागी । मेरी चीख सुन घर वाले जागे और किसी तरह आग को बुझाया. तब तक मेरा शरीर काफी जल चुका था ‌। ”

 

अंकिता ने शाहरुख के बारे में कहीं ये बात

अंकिता ने शाहरुख के बारे में बात करते हुए कहा, “मोहल्ले में सब उसे आवारा लड़के के रूप में जानते है । उसका काम लड़कियों को परेशान करना और अपने झांसे में फंसाना था । वो पिछले 10-15 दिन से मुझे परेशान कर रहा था । मैं स्कूल, ट्यूशन जहां भी जाती, वो मेरा पीछा करता था । मैंने उसकी हरकतों को कभी सीरियसली नहीं लिया । वो कहता था कि अगर मैंने उसकी बात नहीं मानी तो मुझे और मेरे परिवार को जान से मार देगा । मुझे उसकी हरकतों का अंदाजा तो था पर मैं ये नहीं समझ पाई कि वो एक दिन ऐसा भी कर सकता है । ”

क्या थी अंकिता का जलाने की वज़ह

23 अगस्त को शाहरुख ने अंकिता पर पेट्रोल डालकर उसे जिंदा जलाया था । वजह बताई कि अंकिता ने उससे फोन पर बात करने से मना कर दिया था । बुरी तरह झुलसी अंकिता कोदुमका मेडिकल कॉलेज और फिर रांची एम्स ले जाया गया । पांच दिनों तक संघर्ष के बाद अंकिता ने रविवार 28-29 अगस्त की दरम्यानी रात को दम तोड़ दिया । 29 अगस्त सुबह अंकिता का अंतिम संस्कार किया गया । उसके दादा ने मुखाग्नि दी । दुमका में तनाव की स्थिति बन गई थी । मौत की खबर से लोग गुस्सा थे, शहर का माहौल का बिगड़े इसके लिए पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया था ।

कौन है शाहरुख हुसैन ?

शाहरुख हुसैन झारखंड के दुमका का रहने वाला है । ये भी जरुवाडीह मोहल्ले का रहने वाला है जहां अंकिता रहती थी । शाहरुख हुसैन का घर अंकिता के घर से कुछ ही घर दूर है । दो साल से शाहरुख कथित तौर पर अंकिता को परेशान कर रहा था । वो स्कूल आती जाती तो उसका पीछा करता था । अंकिता ने इस बात की शिकायत अपने पिता से की ।

बदनामी के डर से उन्होंने कुछ कहा नहीं । लेकिन जब शाहरुख लगातार परेशान करने लगा तब इस बारे में उन्होंने पुलिस में शिकायत की । शाहरुख के बड़े भाई ने इसके लिए माफी मांगी और आश्वासन दिया कि आगे ऐसा नहीं होगा । कुछ दिन शाहरुख शांत रहा । लेकिन पिछले कुछ दिनों से फिर वही हरकत दोबारा शुरू ।

अंकिता के घरवालों ने बताया कि शाहरुख ने कहीं से जुगाड़ कर अंकिता का फोन नंबर निकाल लिया था । उसे लगातार फोन करके वो दोस्ती का दबाव डालने लगा । अंकिता ने उससे बात करने से मना किया तो उसने धमकी दी और कहा , ” मेरा कहा नहीं मानोगी तो मैं तुम्हें जिंदा नहीं छोडूंगा । ”

पुलिस कस्टडी में हंसते हुए गया शाहरुख

झारखंड  के दुमका  में अंकिता  को जिंदा जलाने वाला शाहरुख  पुलिस हिरासत में मुस्कुराता हुआ दिखा. चेहरे पर ना कोई डर था ना शर्म । पुलिस की गाड़ी में बैठते हुए भी वो हंस रहा था । ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल है । विडियो देखने के बाद लोग शाहरुख हुसैन को फांसी की सज़ा दिलाने की भी मांग कर रहे है ।

कई जगह पर ये मामला सांप्रदायिक रंग भी ले रहा है । करणी सेना और बजरंग दल के लोग प्रदर्शन कर रहे है । झारखंड के एसपी का कहना है कि वो इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाने की दरखास्त करेंगे ।

अंकिता और शाहरुख हुसैन

हिंदू संगठनों ने जताई नाराजगी

विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने एक वीडियो जारी कर जिहादियों को ललकारते हुए कहा कि हिंदू समाज को आत्मरक्षा के लिए मजबूर मत करो नहीं तो इसके गंभीर परिणाम होंगे । उन्होंने कहा कि एक तरफ इस्लामी जिहादी सर तन से जुदा के नारे के साथ मुस्लिम युवा को भड़का कर हिंदू समाज पर प्रहार के लिए उकसा रहे है, तो दूसरी ओर एक गैंग हिंदू बेटियों के चीरहरण पर उतारू है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here