गुजरात विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आए दिन कई नई योजनाओं का शिलान्यास उद्घाटन व लोकार्पण कर रहे है । आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल गुजरात विधानसभा चुनाव को जीतने के लिए एड़ी से चोटी तक का दम लगा दिए हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के अच्छा प्रदर्शन करने के बाद आम आदमी पार्टी भी गुजरात में अपनी जमीन तलाश रही है। इसी बीच आम आदमी पार्टी के गुजरात प्रभारी गोपाल इटालिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मां को अपशब्द कह दिया है।

 

इटालिया ने पीएम को दी गाली, उनके मां को भी कहा अपशब्द

आम आदमी पार्टी के प्रभारी गोपाल इटालिया के अब तक तीन वीडियो सामने आ चुके हैं। जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री और उनकी मां के लिए कई अपशब्द कहा है। गोपाल इटालिया ने प्रधानमंत्री मोदी को नीच तो वहीं उनकी मां को नौटंकीबाज भी कहा है। इसके अलावा उन्होंने दूसरे वीडियो में मंदिर और कथाओं को शोषण का अड्डा भी बताया साथ ही उन्होंने महिलाओं को वहां ना जाने की भी बात कहीं है। तीसरा वीडियो इटालिया का 23 सेकंड का है जिसमें वह मोदी और उनकी मां को अपशब्द कहते हुए नजर आ रहे हैं।

 

महिला आयोग की नोटिस गोपाल इटालिया हिरासत में

आप प्रभारी गोपाल इटालिया के बयानों पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने नोटिस जारी किया था। गुरुवार को इटालिया इसका जवाब देने पहुंचे थे। राष्ट्रीय महिला आयोग के नोटिस के बाद इटालिया ने आयोग अध्यक्ष के ऑफिस में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान ही आप प्रभारी इटालियां को हिरासत में लिया गया। लेकिन दरअसल उन्हें तीन घंटे बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

गुजरात इलेक्शन

आप ने की कांग्रेस वाली गलती, केजरीवाल को होगा भारी नुकसान

 

लोकसभा चुनाव 2014 और लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस पार्टी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जीतने भी अपशब्द कहे गए उससे कांग्रेस पार्टी को भारी नुकसान हुआ है वही पीएम मोदी को कहे गए अपशब्दों से उनकी लोकप्रियता मे दिन प्रतिदिन इजाफा ही हुआ. कुल मिलाकर साफ शब्दों में कहें तो प्रधानमंत्री को गाली देने से चुनाव में भाजपा को फायदा ही होता है। पूर्व में इसके कई उदाहरण भी है।

2007 गुजरात विधानसभा चुनाव: 2007 में गुजरात में विधानसभा का चुनाव हो रहा था। उस समय पीएम मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। सोनिया गांधी चुनाव के दौरान प्रचार करने के लिए गुजरात गई थी उसी दौरान उन्होंने गोधरा कांड में तथाकथित दोषी ठहराते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मौत का सौदागर कह दिया था। सोनिया गांधी का ऐसा लगा था कि मोदी को मौत का सौदागर कहने से अल्पसंख्यक वोट उन्हें मिल सकता है। लेकिन प्रधानमंत्री ने इसे अपना अपमान बताते हुए उस समय इसको मुद्दा बनाते हुए खूब प्रचारित किया और इससे नरेंद्र मोदी को काफी फायदा हुआ नतीजन 2007 के विधानसभा चुनाव में भाजपा 117 सीटें जीती तो वहीं कांग्रेस 59 पर ही सिमट कर रह गई।

 

2014 लोकसभा चुनाव: 2014 के लोकसभा चुनाव मे ही नरेंद्र मोदी पूर्ण बहुमत के साथ पहली बार प्रधानमंत्री बने थे। 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी भी बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रही थी। उस समय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह थे। कांग्रेस सत्ता में थी पर सत्ता में आने के लिए जद्दोजहद कर रही थी। लोकसभा के चुनाव के दौरान ही कांग्रेस के नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बयान दिया था उन्होंने कहा था कि ये कभी प्रधानमंत्री नहीं बनेगा, इसे चाय की दुकान ही खोलनी पड़ेगी। उसके बाद से ही नरेंद्र मोदी ने अपने हर बयानों में चाय वाला शब्द को प्राथमिकता दी जहां एक तरफ कांग्रेस पार्टी उन्हें चाय वाला कहकर के नीचा दिखाने की कोशिश कर रही थी तो वही नरेंद्र मोदी ने इसे गर्व की बात बताकर कांग्रेस पर उल्टा हमला बोल दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी गरीबों को आगे नहीं बढ़ने देना चाहती। वह नहीं चाहती कि एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री बने। मणिशंकर के इस बयान से नरेंद्र मोदी को भारी भरकम फायदा हुआ कांग्रेस पार्टी सत्ता से बेदखल ही नहीं हुई बल्कि 44 सीटों पर रह गई। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा 282 सिटी जीतने में कामयाब रही।

 

2017 गुजरात विधानसभा चुनाव: इसके पहले गुजरात में 2017 में विधानसभा के चुनाव हुए थे। अब तो गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री बन चुके थे। 2017 के विधानसभा चुनाव में ही कांग्रेस के नेता मणिशंकर अय्यर ने भी नरेंद्र मोदी को नीच कहा था। नरेंद्र मोदी ने नीच शब्द को अपने चाहती से जोड़कर कांग्रेस पर वापस हमला बोल दिया। जिसे कांग्रेस को नुकसान सहना पड़ा। गुजरात में विधानसभा चुनाव के कुल 182 सीटें हैं जिनमें से 2017 में कांग्रेस को 77 वहीं भाजपा को 99 सीटें मिली थी।

 

2019 लोकसभा चुनाव,चौकीदार चोर है:राहुल गाँधी

2019 लोकसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने राफेल डील में घोटाले का आरोप लगाते हुए नरेंद्र मोदी को चोर बताया था। अपने हर रैली में राहुल गांधी एक नारा लगाते थे राहुल गांधी कहते थे चौकीदार चोर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे भी अपना चुनावी हथियार बना दिया और उस वक्त सोशल मीडिया पर कैंपेन चल गया लोग अपनी प्रोफाइल फोटो के साथ लिखने लगे मैं भी चौकीदार राहुल गांधी का यह बयान उन पर ही भारी पड़ गया। मैं भी चौकीदार कैंपेन से प्रधानमंत्री मोदी को जबरदस्त रिस्पांस मिला। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए गठबंधन 2019 में 2014 से भी ज्यादा कुल 303 सीटें जीतने में कामयाब रही. वहीं यूपीए गठबंधन मात्र 99 सीटें ही जीत पाई।

 

भाजपा के चंगुल में फंस गए केजरीवाल

 

भारतीय जनता पार्टी के महासचिव सीटी रवि ने आम आदमी पार्टी और केजरीवाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह AAP का ड्रामा है। यह पार्टी गुजरात में कभी सक्सेस नहीं हो पाएगी। गुजरात की जनता समझदार है। राजनीति चमकाने के लिए ये सब बयानबाजी हो रही है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी अरविंद केजरीवाल को घेरते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल, गटर जैसे मुंह वाले गोपाल इटालिया ने आपके आशीर्वाद से PM मोदी की मां हीरा बा को गाली दी। मैं कोई नाराजगी नहीं जताती, मैं यह नहीं दिखाना चाहती कि गुजराती कितने नाराज हैं, लेकिन आप यह जान लें कि जनता ने आपको देख लिया है। आपकी पार्टी को गुजरात चुनाव में नष्ट कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here