पीएम मोदी ने सरकारों के प्रमुखों के रूप में 21 साल पूरे हो गए है । भाजपा नेताओं ने शुक्रवार को गुजरात के मुख्यमंत्री सहित सरकारों के प्रमुख के रूप में 21 साल पूरा करने पर प्रधानमंत्री मोदी की सराहना की । उन्होंने पीएम मोदी के नेतृत्व और देश के प्रति उनकी निस्वार्थ सेवा को भी सराहा ।

पीएम 12 साल 227 दिन तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे । फिर 2014 से उनका सफर देश के प्रधानमंत्री के रुप में शुरु हुआ । अब वे आठ साल से अधिक समय से देश से प्रधानमंत्री हैं और देश में सबसे अधिक समय तक पद पर रहने वाले प्रधानमंत्रियों में उनका स्थान चौथे नंबर पर है ।

बचपन से ही अपने देश के लिए कुछ करना चाहते थे पीएम मोदी

17 सिंतबर, 1950 को गुजरात राज्य के मेहसाना जिले के एक छोटे शहर वडनगर में पीएम मोदी यानी नरेंद्र दामोदरदास मोदी का जन्म हुआ था । उस समय ये बॉम्बे में था जो बाद में गुजरात का हिस्सा बना । नरेद्र मोदी के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी और वे अपने 5 भाई-बहनों में तीसरे नंबर के है । उनके पिता की रेलवे स्टेशन पर चाय की दुकान थी और स्कूल से घर आने पर वे अक्सर अपने पिता की मदद के लिए चाय बांटने का काम करते थे । स्टेशन पर आने वाले सैनिकों को देकर मोदी के मन में हमेशा रहता था कि वे देश के लिए कुछ करे । बचपन के उनके कई किस्से हैं और उन्होंने खुद बताया कि वे काफी शरारती हुआ करते थे । नरेंद्र मोदी ने अपने बचपन के दिनों में काफी कठिनाइयों का सामना किया है लेकिन अपने चरित्र और साहस से उन्होंने सभी चुनौतियों का सामना किया ।

पीएम नरेंद्र मोदी साल 2014 से देश के पीएम हैं और इससे पहले भी कई साल तक गुजरात की सत्ता उनके पास रहे है । पहले राज्य और अब पूरे देश का शासन चलाते हुए उन्हें आज 21 साल हो गए है । आज से ठीक 21 साल पहले 7 अक्टूबर को नरेंद्र मोदी ने पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री के रुप में शपथ ली थी । गुजरात से शुरू हुए इस सफर के बाद से आज मोदी ने वैश्विक स्तर पर अपनी खास पहचान बना ली है ।

4 अक्टूबर साल 2001 को नरेंद्र मोदी को गुजरात के राज्यपाल ने विधायक दल के नेता के रुप में आमंत्रित किया था । फिर नरेंद्र मोदी ने 51 साल की उम्र में पहली बार 7 अक्टूबर 2021 को गुजरात के मुख्यमंत्री के रुप में शपथ ली थी । उन्होंने सीएम बनने के बाद एक्शन में नजर आए थे । उन्होंने पद संभालते ही तुरंत नौकरशाही को अपने तरीके से एडजस्ट करना शुरू किया और पहले दिन कम से कम 10 कलेक्टर्स के साथ कॉन्फ्रेंसिंग की थी । जब उन्होंने पहली बार सीएम पद की शपथ ली थी, उस वक्त इसे वेब पर लाइव भी किया गया था ।

पीएम नरेंद्र मोदी सबसे ज्यादा शासन करने वाले गैर कांग्रेसी बने

बता दें कि। जिस समय पीएम नरेंद्र मोदी गुजरात के सीएम बने, उस वक्त वो विधानसभा सदस्य थे । उन्होंने गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के लगभग चार महीने बाद अपने पहले चुनाव में पर्चा दाखिल किया और चुनाव लड़ा । ये बात जनवरी 2002 की है, जब उन्होंने राजकोट से उप-चुनाव लड़ा था । उन्होंने पहली बार गुजरात विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की और विधानसभा में प्रवेश किया ।

इसके बाद पीएम मोदी 12 साल 227 दिन तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे । फिर 2014 से उनका सफर देश के प्रधानमंत्री के रुप में शुरु हुआ । अब वे आठ साल से अधिक समय से देश से प्रधानमंत्री हैं और देश में सबसे अधिक समय तक पद पर रहने वाले प्रधानमंत्रियों में उनका स्थान चौथे नंबर पर है । बता दें कि जवाहर लाल नेहरू 16 साल 208 दिन, इंदिरा गांधी 15 साल 350, मनमोहन सिंह 10 साल 4 दिन तक पीएम रहे थे ।

अगर गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्रियों की बात करें तो उनका नाम सबसे ऊपर है । वे इस लिस्ट में पहले नंबर पर है । अटल बिहारी वाजपेयी ने तीन कार्यकाल में 6 साल 80 दिनों तक शासन किया था जबकि जनता पार्टी के मोरारजी देसाई दो साल 186 दिन तक प्रधानमंत्री रहे थे ।

केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने एक ट्वीट में कहा कि आज ही के दिन 21 साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के प्रति निष्कलंक और निस्वार्थ सेवा की शुरुआत की थी । साल 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री का पदभार संभालने के बाद से मोदी शासन में व्यापक बदलाव ला रहे है । इससे मजबूत और भरोसेमंद भारत का निर्माण करने में मदद मिल रही है ।

पीएम मोदी ने आज ही के दिन 2001 में यानी सात अक्तूबर 2001 को गुजरात के मुख्यमंत्री का पद संभाला था । वहां भाजपा को लगातार विधानसभा चुनावों में जीत दिलाने में सफलता हासिल की । उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनाव में पार्टी के चुनाव अभियान का नेतृत्व किया । इसके बाद वे देश के प्रधानमंत्री बने। 2019 में वे लगातार दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री बने ।

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी अपनी कक्षा के सर्वश्रेष्ठ वक्ता  थे । पीएम मोदी ने अपनी स्कूली शिक्षा साल 1967 में पूरी की । मोदी जी ने उसी दौरान अपने बड़े भाई सोमभाई मोदी के साथ चाय बेचना शुरू किया । कुछ देर बाद मोदी जी घर से चले गए । घर से निकलने के बाद मोदी जी उत्तर भारत के कई राज्यों में घूमने और हिंदू संस्कृति को जानने के लिए गए । 4 साल तक भारत के उत्तर-पूर्वी राज्यों का दौरा करने के बाद, मोदी 1971 में गुजरात लौट आए । गुजरात आने के बाद,  नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक भी बने । 1978 में मोदी ने दिल्ली विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में स्नातक किया । साल 1983 में, मोदी ने गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में मास्टर डिग्री भी प्राप्त की । अपने काम के इन बेहतरीन सालों के दौरान नरेंद्र मोदी ने छुट्टी नहीं ली और वे 24 घंटों में सिर्फ 5 घंटे ही सोते हैं अन्यथा 18 घंटों तक काम करते है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here