rajdharma news

गुरूवार को ED और NIA के बड़ी छापेमारी के कारण PFI के 100 से भी ज्यादा सदस्य गिरफ्तार हुए है. तो वही PFI के कार्यकरता ने जोरो शोरों से इसका विरोध किया था. ऐसे में विपक्षी दल के नेता बीजेपी पर जमकर पलटवार कर रहे हैं तो वही अपने बयानों के कारण विवादें में घिरे रहने वाले सपा सांसद शफीकुर्रहमान ने भी बाजेपी पर हमला किया है. शफीकुर्रहमान ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि ED और NIA के जरिए बीजेपी मुसलमानों को बदनाम करने की कोशिश कर रही है. आपको बता दें कि यह पहला मौका नही है जब शफीकुर्रहमान ने बीजेपी के घेरे में लिया हों. इससे पहले भी कई मौको पर उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधा है.

सपा सांसद ने किया PFI का समर्थन

हमेशा से अपने विवादित बयानों के चलते सुर्खियों में बने रहने वाले सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने PFI यानी पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के समर्थन में बयान दिया है. उन्होंने कहा कि PFI एक पार्टी है, तो क्या अब कोई पार्टी भी नहीं चला सकता? PFI ने कोई गुनाह किया है क्या? बीजेपी बताए आखिर PFI का जुर्म क्या है?

डर गई है बीजेपी

शफीकुर्रहमान ने आगे बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि इन पाबंदियों के जरिए बीजेपी मुसलमानों को बदनाम करने की साजिश रच रही हैं. उन्होंने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की तारीफ करते हुए कहा कि वो भारत को एक करने के लिए यात्रा पर निकले हैं और इससे बीजेपी पूरी तरह से हुई है क्योंकि अगर पूरा मुल्क एक हो गया, तो इन्हें 50 सीटें भी नसीब नहीं होगी. जाहिर है कि NIA, ED और राज्यों की पुलिस ने कुल 11 राज्यों में रेड मारी है. इसमें PFI से जुड़े 100 से भी ज्यादा लोगों को अलग-अलग मामलों में गिरफ्तार किया गया है. PFI के नेताओं और कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारियां हुई हैं. आपको बता दें कि NIA के 300 अधिकारी ऑपरेशन का हिस्सा थे.

मदरसों के बाद अब वक्फ की जांच कराकर भी देख लें

शफीकुर्रहमान ने मोदी सरकार को घेरे में लेते हुए कहा कि “सरकार ने मदरसों की जांच कराकर देख लिया. अब वो वक्फ की जांच कराकर भी देख लें. हम किसी भी जांच के लिए मना नहीं कर रहे हैं और ना ही हम इससे डरते हैं. ये जांच सिर्फ और सिर्फ मुसलमानों को खौफजदा करने के लिए की जा रही हैं, जिससे कि 2024 के चुनाव में मुसलमान डर की वजह से बीजेपी को वोट दें.

असल मुद्दों से ध्यान भटका रही सरकार

सपा सांसद ने कहा, वक्फ संपत्तियों की जांच की बात करके ये लोग असल मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाना चाहते हैं. मोदी सरकार किसी भी तरह 2024 का चुनाव जीतने के लिए साजिश कर रहे हैं. लेकिन, ये होने वाला नहीं है क्योंकि अब पूरा विपक्ष एक होने जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here