पीएम नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में एक कार्यक्रम में भारत में 5 G मोबाइल इंटरनेट सेवा की शुरुआत कर दी है‌ । इसी के साथ भारत में बेहद तेज़ मोबाइल इंटरनेट युग की शुरुआत भी हो गई है । 5 G सेवा लॉन्च करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत सरकार का मक़सद सभी भारतीयों को इंटरनेट सेवा मुहैया कराना है । पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, “अब भारत में इस सेवा की शुरुआत हो गई है और हर भारतीय तक हाई-स्पीड इंटरनेट पहुंचने में अब बहुत वक़्त नहीं लगेगा । ”

पीएम नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली के प्रगति मैदान से देश को हाई स्पीड मोबाइल इंटरनेट सुविधा 5G की सौगात दी । प्रधानमंत्री मोदी ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2022 के छठे एडिशन में 5G सर्विस का शुभारंभ किया । मोदी ने डेमो जोन में 5G का एक्सपीरियंस भी लिया । इस मौके पर केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव भी मौजूद रहे । बता दें कि दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कुछ दिन पहले बयान जारी किया था कि देश में 5G को धीरे-धीरे अलग-अलग फेज में लॉन्च किया जाएगा । पहले फेज के लिए 13 शहरों का चयन किया गया है । जहां सबसे पहले 5जी सर्विस को लॉन्च किया जाएगा ।

पीएम नरेंद्र मोदी ने IMC 2022 प्रदर्शनी का उद्घाटन किया, उन्होंने जियो पवेलियन में प्रदर्शित ट्रू 5G उपकरणों को देखा और ” जियो-ग्लास ” को खुद पहन कर उसका अनुभव किया । उन्होंने युवा Jio इंजीनियरों की एक टीम द्वारा एंड-टू-एंड 5G तकनीक के स्वदेशी विकास को भी समझा । इस दौरान प्रधानमंत्री के साथ दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव, दूरसंचार राज्य मंत्री देवुसिंह चौहान, रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी और रिलायंस जियो के चेयरमैन आकाश अंबानी भी उपस्थित रहे ।

उद्घाटन करने के बाद, पीएम नरेंद्र मोदी ने विभिन्न दूरसंचार ऑपरेटरों और प्रौद्योगिकी प्रदाताओं द्वारा स्थापित मंडपों का दौरा किया, ताकि 5G क्या कर सकता है । इसका प्रत्यक्ष अनुभव प्राप्त किया । उन्होंने रिलायंस जियो के स्टॉल से शुरुआत की, जहां उन्होंने ” ट्रू 5 G” डिवाइस को देखा और जियो ग्लास के माध्यम से उपयोग के मामले का अनुभव किया ।

दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव और रिलायंस के अरबपति मुकेश अंबानी, भारती एयरटेल के सुनील भारती मित्तल और वोडाफोन आइडिया के कुमार मंगलम बिड़ला के साथ, उन्होंने एंड-टू-एंड 5 जी तकनीक के स्वदेशी विकास को समझने में समय बिताया । इसके बाद उन्होंने एयरटेल, वोडाफोन आइडिया, सी-डॉट और अन्य के स्टालों का दौरा किया ।

पीएम नरेंद्र मोदी

इस 5G के प्रदर्शनी में पीएम के सामने प्रदर्शित किए जाने वाले विभिन्न उपयोग के मामलों में सटीक ड्रोन-आधारित खेती, उच्च-सुरक्षा राउटर और एआई आधारित साइबर खतरे का पता लगाने वाले प्लेटफॉर्म, स्वचालित निर्देशित वाहन, अंबुपॉड – स्मार्ट एम्बुलेंस, संवर्धित वास्तविकता / आभासी वास्तविकता / शामिल है । शिक्षा और कौशल विकास, सीवेज निगरानी प्रणाली, स्मार्ट-कृषि कार्यक्रम, स्वास्थ्य निदान, आदि में वास्तविकता का मिश्रण है ।

इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी), जो एशिया में सबसे बड़ा दूरसंचार, मीडिया और प्रौद्योगिकी मंच होने का दावा करती है, संयुक्त रूप से दूरसंचार विभाग (डीओटी) और सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) द्वारा आयोजित की जाती है ।

 

पीएम नरेंद्र मोदी ने सभा को संबोधित करते हुए कही ये बात

पीएम नरेन्द्र मोदी इंडिया मोबाइल कांग्रेस (IMC 2022) के छठे एडिशन में 5जी सर्विस का शुभारंभ किया । पहले फेज में 13 शहर अहमदाबाद, बेंगलुरु, चंडीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, गांधीनगर, गुरुग्राम, हैदराबाद, जामनगर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई और पुणे में 5G कनेक्टिविटी की शुरुआत होगी । इसके बाद 5G को देश के हर हिस्से में पहुंचाया जाएगा । IMC 2022 कार्यक्रम चार अक्तूबर तक चलने वाला है । IMC 2022 को इसके आधिकारिक एप से भी लाइव देखा जा सकता है । बता दें कि IMC की शुरुआत पहली बार 2017 में की गई थी । पिछले दो साल से IMC का आयोजन वर्चुअल हो रहा था ।

 

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, भारत में 5G का रोलआउट भारत के दूरसंचार इतिहास में कोई सामान्य घटना नहीं है । यह 140 करोड़ भारतीयों की उम्मीदों और उच्च आकांक्षाओं को अपने कंधे पर उठाए हुए है । 5G के साथ, भारत सब का डिजिटल साथ और सब का डिजिटल विकास की दिशा में मजबूत कदम उठाएगा । भारत ने भले ही थोड़ी देर से शुरुआत की हो, लेकिन हम दुनिया की तुलना में उच्च गुणवत्ता वाली और अधिक किफायती 5G सेवाओं को शुरू करेंगे । आज, मैं दिसंबर 2023 तक हमारे देश के हर शहर, हर तालुका और हर तहसील में 5G पहुंचाने की Jio की प्रतिबद्धता को दोहराना चाहता हूं । Jio की अधिकांश 5G भारत में विकसित की गई है, इसलिए आत्मानिर्भर भारत की मुहर इसपर लगी है ।

पीएम नरेंद्र मोदी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा, आज की तेजी से बदलती दुनिया में भारत को शीर्ष पर चढ़ने से कोई रोक नहीं पाएगा । इस स्थान पर हमारा अधिकार है । भारत और भारतीय इससे कम पर समझौता नहीं कर सकते । चौथी अधोगिक क्रांति का नेतृत्व भारत करेगा ।

पीएम नरेंद्र मोदी ने IMC 2022 को संबोधित करते हुए कहा, टेक्नोलॉजी एक नशा है, इसका इस्तेमाल सही तरीके से करें । आज देश के 200 से अधिक मोबाइल बनाने वाली कंपनियां है । पहले हम मोबाइल का आयात कर रहे थे और आज निर्यात कर रहे है ।

 

विशेषज्ञों ने कहा है कि 5G तकनीक से भारत को काफी फायदा होगा

“5G नए आर्थिक अवसरों और सामाजिक लाभों को प्राप्त कर सकता है, जिससे यह भारतीय समाज के लिए एक परिवर्तनकारी शक्ति बनने की क्षमता प्रदान करता है । यह देश को विकास के लिए पारंपरिक बाधाओं को दूर करने में मदद करेगा, स्टार्टअप्स और व्यावसायिक उद्यमों द्वारा नवाचारों को बढ़ावा देने के साथ-साथ ” डिजिटल ” को आगे बढ़ाएगा । भारत की दृष्टि, “एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है । विशेषज्ञों ने कहा है कि 5G तकनीक से भारत को काफी फायदा होगा । साल 2023 और 2040 के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था को 36.4 ट्रिलियन ($ 455 बिलियन) का लाभ होने की संभावना है, मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटरों का प्रतिनिधित्व करने वाले एक वैश्विक उद्योग निकाय की हालिया रिपोर्ट का अनुमान है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here